ALL मध्य प्रदेश देश विदेश भोपाल खेल लाइफस्टाइल बाजार क्राइम मनोरंजन साहित्य
धड़ल्ले से हो रहा तम्बाकू मिश्रित अवैध गुटखे का कारोबार
September 15, 2019 • ABHISHEK SHARMA

गुटखा माफियाओं पर मेहरबान खाद्य सुरक्षा विभाग

सरकारी नियमों की अनदेखी करते जिम्मेदार

चित्रकूट- खाद्य सुरक्षा विभाग की मनमानी के चलते जिले में अवैध गुटखे  का कारोबार तेजी से फैल रहा है जिसमें शासन के नियमों की अनदेखी करते हुए धड़ल्ले से अवैध गुटखा बनाया जा रहा है व मनमाने तरीके से बाजार में बेचा जा रहा है l खाद्य सुरक्षा विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों की मिलीभगत के चलते गुटखा माफिया अपनी मनमानी करते हुए नजर आते हैं जिसमें ज्यादातर गुटखा माफिया तंबाकू मिक्स गुटखा बाजार में बेच रहे हैं lइन गुटखा माफियाओं द्वारा सरकारी नियमों को दरकिनार करते हुए बिना फर्म का नाम दर्शाए ही धड़ल्ले से गुटखा बेचा जा रहा है l

ऐसा ही एक मामला सामने आया है पूजा गोल्ड गुटखे का

 जिसमें  गुटखा माफियाओं की मनमानी इस तरह चल रही है कि इस गुटके में तंबाकू का मिश्रण भारी मात्रा में किया जा रहा है व बिना फर्म का नाम दर्शाएं धड़ल्ले से गुटखा बाजार में बेचा जा रहा है l
खाद्य सुरक्षा विभाग के जिम्मेदार अधिकारी सब कुछ जानते हुए भी अनजान बनकर सिर्फ वसूली करते हुए दिखाई देते हैं l
खाद्य सुरक्षा अधिकारी व अभिहित अधिकारी सहित मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी की मिलीभगत से जिले में अवैध गुटखे का कारोबार तेजी से पनप रहा है l
 जिसमें जनता के स्वास्थ्य के साथ बड़ी लापरवाही बरती जा रही है l बरसात का सीजन होने के चलते तंबाकू मिश्रित गुटखे में सड़न पैदा हो गई है लेकिन वह गुटखा भी बड़े दुकानदारों द्वारा बहुत ही मनमाने तरीके से बेचा जा रहा है l
गुटखा माफियाओं व किराना व्यापारियों की  मिलीभगत से जिले के ग्रामीण इलाकों में यह अवैध गुटका तेजी से बेचा जाता है जिसमें सड़ी हुई सुपारी व खराब तंबाकू का उपयोग किया जाता है जिसके कारण आम जनमानस के स्वास्थ्य के साथ बहुत बड़ा खिलवाड़ किया जा रहा है l
खाद्य सुरक्षा विभाग की लापरवाही के चलते आम जनता को इस अवैध गुटखे के चलते गंभीर बीमारियों का सामना करना पड़ रहा है l
सबसे बड़ी सोचने वाली बात यह है कि जहां सरकार द्वारा प्लास्टिक पर रोक लगाई जा रही है वहीं दूसरी ओर यह गुटखा माफिया प्लास्टिक की थैली में गुटका भरकर बेचने का काम करते हैं व सरकार के निर्देशों की खुलेआम धज्जियां उड़ाते हैं l
खाद्य सुरक्षा विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा शासन के निर्देशों की अनदेखी कर गुटखा संचालित करने वाले गुटखा माफियाओं पर कोई कार्यवाही नहीं किए जाने के कारण इनके हौसले सातवें आसमान पर है l

 जब भी खाद्य सुरक्षा विभाग द्वारा किसी दुकान पर छापा मारा जाता है तो वहां भी इन जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा मोटी रकम वसूल कर मामले को रफा-दफा कर दिया जाता है l
जो दुकानदार इन जिम्मेदार अधिकारियों की बात नहीं मानते हैं तो उनके ऊपर बड़ी कार्यवाही की जाती है l
गत वर्ष पूर्व जिला मुख्यालय के तरौहा में ऐसा ही कुछ देखने को मिला था जिसमें बनारसी दास की अवैध गुटखा फैक्ट्री पर खाद्य सुरक्षा विभाग के अभिहीत अधिकारी,मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी व खाद्य सुरक्षा अधिकारी सहित खाद्य सुपरवाइजर की संयुक्त टीम ने बड़ी छापेमारी की थी जिसमें मामले को रफा-दफा करने के लिए मोटी रकम की मांग की गई थी लेकिन मोटी रकम ना दे पाने के कारण बनारसी की अवैध गुटखा फैक्ट्री पर बड़ी कार्रवाई की गई थी वाह लाखों का जुर्माना किया गया था l
 जिले में कई दुकाने ऐसी भी हैं जिसमें मानक को दरकिनार करते हुए कार्य किया जा रहा है व अवैध गुटखा बनाया जा रहा है l

सबसे बड़ी सोचने वाली बात यह है कि अवैध गुटखा के संचालन को कब जिला प्रशासन रोक पाएगा व खाद्य सुरक्षा विभाग के इन लापरवाही अधिकारियों के ऊपर जिला प्रशासन का शिकंजा कसने का काम करेगा l

 खाद्य सुरक्षा विभाग की मनमानी पर विशेष रिपोर्ट...